Firmware Kya Hai • Firmware Update Kyon Karna Chahie • Firmware Full information

What is Firmware in HINDI - दोस्तों आप हार्डवेयर के बारे में जानते ही होंगे जो कंप्यूटर में बहुत से प्रकार के hardware और Software होते हैं जिनकी मदद से कंप्यूटर यूजर द्वारा दिए गए कार्यों को करने में सक्षम हो पाता है। हर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर किसी विशेष कार्य को पूरा करने के लिए बनाए जाते हैं। हम सभी ने हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बहुत से नाम सुने होंगे लेकिन एक और चीज है जिसके उपयोग के बिना कंप्यूटर शुरू भी नहीं किया जा सकता है और वह Firmware है।


वैसे आप Firmware नाम तो सुना ही होगा लेकिन क्या आपको पता है कि कंप्यूटर को शुरू करने में इसकी क्या भूमिका होती है नहीं ना अब तक तो हम बस यही सोचते आ रहे थे कि Computer Operating System और CPU की वजह से काम करता है लेकिन यह तो बस आधा अधूरा सच है। Firmware के बिना कंप्यूटर किसी काम का नहीं है आपको यह जानकर हैरानी होगी कि फर्मवेयर का उपयोग केवल कंप्यूटर में ही नहीं बल्कि बहुत से electrical और hardware devices में भी इसका उपयोग किया जाता है जैसेकि smartphone, smart tv, Washing machine smart watch इत्यादि। इसका काम भले ही छोटा सा है लेकिन Firmware हर एक machine device के लिए बहुत इंपॉर्टेंट है।



Firmware Kya Hai • Firmware update kyon karna chahie • Firmware Full information


{getToc} $title={Table of Contents}

Hardware और Software क्या होता है? (What is Hardware and Software)

फर्मवेयर को समझने के लिए आपको hardware और Software को समझना जरूरी है। hardware एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो कंप्यूटर की वह भाग होते हैं जिन्हे हम छू सकते हैं और देख सकते हैं ये कंप्यूटर के फिजिकल पार्ट्स होते हैं जिसकी मदद से कंप्यूटर की बॉडी तैयार की जाती है। hardware का उदाहरण है Monitor, keyboard, mouse, cpu आदि। और Software instructions of program का एक सेट होता है जो एक विशेष कार्य को करने के लिए कंप्यूटर को निर्देश देता है सॉफ्टवेयर यूजर को कंप्यूटर पर काम करने की योग्यता प्रदान करता है। operating system और Software का मुख्य उदाहरण है हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों एक साथ मिलकर के कंप्यूटर के काम को पूरा करते हैं और यूजर को आउटपुट देते हैं।



Firmware क्या होता है? (What is Firmware)

फर्मवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है जो हार्डवेयर के एक हिस्से में जुड़ा होता है Firmware में किसी भी हार्डवेयर के basic function को पालन करने के इंस्ट्रक्शंस प्रोग्राम होते हैं इसीलिए हम फर्मवेयर को हार्डवेयर के लिए सॉफ्टवेयर भी कह सकते हैं। Firmware एक ऐसा प्रोग्राम है जो हार्डवेयर के साथ जुड़कर आता है यानी हार्डवेयर को manufacturing के समय ही इसमें फर्मवेयर को स्थापित किया जाता है जैसे की keyboard, hard drive, graphic card, printer या इसके अलावा किसी भी Home Appliances जैसे TV, Microwave, Oven, Washing Machine इत्यादि में भी फर्मवेयर जुड़ा होता है।


Firmware सॉफ्टवेयर का एक छोटा सा टुकड़ा है जो हार्डवेयर का काम करता है यह सभी हार्डवेयर डिवाइसेज को सिस्टम के अन्य डिवाइस के साथ कम्युनिकेट करने और बेसिक इनपुट-आउटपुट टास्क को पूरा करने के लिए इंस्ट्रक्शन देता है। Firmware के बिना हमारे द्वारा उपयोग किए जाने वाले अधिकांश इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस काम नहीं कर सकते है क्योंकि हर छोटे-बड़े इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में एक सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किया गया है जिसकी मदद से यूजर द्वारा दिए गए इनपुट्स को समझता है उसके अनुसार काम करता है


जैसे एक साधारण सा उदाहरण है Washing machine जिसमे कुछ बटन होते है जिसका इस्तेमाल करके मशीन को कंट्रोल किया जाता है और हम अपनी जरूरत के अनुसार उससे काम करवाते हैं लेकिन क्या अपने सोचा है कि जैसे ही हम कोई बटन दबाते हैं तो मशीन कैसे समझ जाती है कि कितनी स्पीड से याफिर किस mode में काम करना है Washing machine इसीलिए समझ जाती है क्योंकि उसके अंदर एक मेमोरी रहती है जिसमें Firmware को इंस्टॉल किया गया रहता है और उसी सॉफ्टवेयर की वजह से मशीन हमारे इनपुट को समझ जाती है इसी तरह आपके कंप्यूटर का bios देखा होगा वह भी Firmware है जो कंप्यूटर हार्डवेयर के Rom में install रहता है कंप्यूटर में Operating System को lood करने से पहले Firmware सभी hardware device को चेक करता है कि ये सही परिस्थिति में है या नहीं और ये ठीक से काम भी कर रहे हैं या नहीं और उनमें कोई डिफेक्ट है या नहीं उसके बाद ही ऑपरेटिंग सिस्टम को ram में lood करके कंप्यूटर को कार्य करने की सिचुएशन में लाता है।



Device या Computer में Firmware कहाँ store किया जाता है? (Where is Firmware Stored in Device or Computer)

फर्मवेयर आमतौर पर विशेष प्रकार की मेमोरी में store होता है जिसे flash rom कहते है। Rom का पूरा नाम Read Only Memory है। और इसमें manufacturing company के द्वारा केवल एक बार ही प्रोग्राम लिखा जाता है बाद में जरूरत पड़ने पर इसे दोबारा से re-write किया जा सकता है। कंप्यूटर डिवाइस को हमारे इनपुट को समझने के लिए rom की जरूरत होती है क्योंकि इसमें डाटा स्थाई रूप से स्टोर होकर रहता है और इसमें डाटा तभी स्टोर होकर रहता है जब डिवाइस को पावर नहीं मिलता या जब डिवाइस बंद हो जाती है अगर रोम नहीं होता तो Firmware स्टोर नहीं किया जा सकता था और डिवाइस भी अपना काम नहीं कर पाता। अन्य सॉफ्टवेयर की तरफ फर्मवेयर का भी updated version तैयार किया जाता है ताकि यह पहले से और भी ज्यादा बेहतर परफॉर्मेंस दे सके।



Firmware update क्यों और कैसे करना चाहिए? (How to Update Firmware)

बिटकॉइन के लिए ब्लॉकचेन एक तरिके का डाटाबेस है। जो हर बिटकॉइन ट्रांजेक्शन को store रखता है bitcoin जैसी CryptoCurrency में ब्लॉकचेन इन करेंसी के ऑप्शन को कंप्यूटर के नेटवर्क पर स्प्रेड करता है। जिससे इन करेंसी को बिना किसी सेण्टर अथॉरिटी के ऑपरेट करना पॉसिबल हो पता है। इसके इस्तेमाल से रिस्क भी कम होता है और बहुत से प्रोसेसिंग और ट्रांजेक्शन फ़ीस भी नहीं लगता है। bitcoin की ब्लॉकचेन में जो ब्लॉक होते है वो मॉनिटरी ट्रांजेक्शन की डाटा को स्टोर करते है। लेकिन असल में Blockchain ट्रांजेक्शन के दूसरे तरह का डाटा स्टोर करने के लिए भरोसेमंद होता है। ऐसे बहुत से एरिया है जहाँ ब्लॉकचेन उसफुल साबित हो सकती है और बहुत से महत्वपूर्ण सेक्टर सर्विस को बेहतर बना सकती है।


firmware update hardware के performance में सुधार करने या नए feature को जोड़ने के लिए जारी किये जाते है। फर्मवेयर को अपडेट करने से आपकी डिवाइस की कार्य क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है अपडेट हो जाने के बाद वह डिवाइस नए डिवाइस के समान काम करता है साथ ही उसके परफॉर्मेंस को और भी बेहतर बनाता है। फर्मवेयर को अपडेट करने के लिए आप सीधे प्रोडक्ट के मैन्युफैक्चरर्स की वेबसाइट से अपडेटेड वर्जन को डाउनलोड कर सकते हैं या उसकी CD और DVD का उपयोग करके भी आप इसे अपडेट कर सकते हैं। डिवाइस के फर्मवेयर को अपडेट करना कोई मुश्किल काम नहीं है बस जब भी आपका सिस्टम अपडेट होने के लिए तैयार रहेगा तब वह आपको सूचित करेगा फर्मवेयर अपडेट करने के लिए उसके बाद आप कंपनी की वेबसाइट से फर्मवेयर अपडेट करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करके इंस्टॉल करके रन कर सकते हैं। फिर सिस्टम को shut down करके उसे restart करना होता है तो इस तरीके से आपके सिस्टम का फर्मवेयर अपडेट हो जाएगा।



Firmware update करते समय किन बातो का ध्यान रखें? (What are Things to keep in Mind while Updating Firmware)

फर्मवेयर अपडेट करने से पहले आपको यह ध्यान रखना है कि जब आप फर्मवेयर update कर रहे हो तो आपकी डिवाइस बंद नहीं होनी चाहिए। इससे आपकी डिवाइस खराब होने का खतरा होता है। यहां पर ध्यान रखने वाली एक और बात यह है कि केवल वही अपडेटेड सॉफ्टवेयर को भरोसेमंद मान सकते हैं जो सीधे manufacturer या सॉफ्टवेयर कंपनी के द्वारा भेजे जाते हैं किसी भी सॉफ्टवेयर को अपडेट करने के लिए कभी भी थर्ड पार्टी के सोर्स पर भरोसा नहीं करना चाहिए क्योंकि हो सकता है इससे आपके सिस्टम में वायरस अटैक हो जाए उतना ही महत्वपूर्ण है सिस्टम पर गलत फर्मवेयर अपडेट करने से बचना। एक डिवाइस के फॉर्मवेयर को दूसरी डिवाइस पर अपडेट करने से पहले वह पहले की तरह काम नहीं कर सकता और हो सकता है कि वह अपडेट आपके Firmware को खराब कर दें जो डिवाइस के काम करने को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचा सकता है। फर्मवेयर अपडेट करने से पहले यह देखें कि आपके हार्डवेयर का मॉडल नंबर उस फर्मवेयर सॉफ्टवेयर से मैच कर रहा है या नहीं उसके बाद ही आप उस सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करें।



Conclusion

दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको इस पोस्ट से फर्मवेयर किया है यह कहां पर स्टोर होकर रहता है और इसे समय-समय पर अपडेट करते रहना क्यों जरूरी है यह सारी चीजें समझ में आ गया होगा। और आपको ये पोस्ट कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं। धन्यवाद !

MrJaz Tm

Hii Friend's. I am Sonu Kumar, and I am a full-time blogger and YouTuber. I love blogging and sharing knowledge information worldwide so everyone can easily reach what we have.

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Previous Post Next Post

Contact Form