What is Design Thinking • Design Thinking Process - in HINDI • Design Thinking kya hai

Design Thinking Process - दोस्तों जो Designer Design Thinking के प्रोसेस फॉलो करते हैं उनकी सैलरी में अचानक से 60% से ज्यादा हाइट देखा गया है बड़ी-बड़ी कंपनी जैसे कि Jio, amazon, facebook, adobe यह क्या कर रही है यह डिजाइन थिंकिंग समझने वाले और उसे प्रोसेस में इंप्लीमेंट करने वाले डिजाइनर को ज्यादा प्रेफरेंस दे रही है मैंने कम्युनिटी में पूछा था के डिजाइन थिंकिंग के बारे में आप कितना जानते हैं पर मुझे एक भी सही जवाब नहीं मिला। Design Thinking Tools and Techniques




What is Design Thinking | Design Thinking Process - in HINDI | Design Thinking kya hai



{getToc} $title={Table of Contents}


Design Thinking क्या है

जब किसी कंपनी को कोई प्रॉब्लम सॉल्व करना होता है तो बहुत सारे प्रोसेस को फॉलो किया जाता है पर डिजाइन थिंकिंग का प्रोसेस इससे काफी अलग काम करता है देखिए इस से बैटर के कोई प्रोडक्ट बना या जाए और फिर बताया जाए कि वह यूजर को कैसे हेल्प कर सकता है डिजाइन थिंकिंग फोकस करता है कि पहले यूजर की प्रॉब्लम को समझो यूजर के प्रॉब्लम यानि human centered प्रॉब्लम को समझो फिर उसके बाद उसका सलूशन प्रोवाइड करो। what is Design Thinking

  यहां मैं जिस प्रॉब्लम की बात कह रहा हूं वह सिर्फ Web related या Mobile related नहीं होगा वह किसी भी तरह की प्रॉब्लम हो सकती है जैसे के :- मुंबई में बहुत सारी गाड़ियां है तो यहाँ कार पार्किंग की समस्या है तो यह कैसे हम Design Thinking से सॉल्व करेंगे। या किसी भी गांव के गवर्नमेंट स्कूल में बच्चों को एक अच्छा हेल्दी फूड हम कैसे प्रोवाइड कर सकते हैं इस Design Thinking के थरु। design thinking toolkit

  तो इस तरह के organizational और cultural समस्या को भी Design Thinking के थरु सॉल्व किया जा सकता है अब Design Thinking में अलग अलग प्रोसेस आते हैं। जैसे की :- Empathy, Define, Prototype,Test


Empathy क्या है और इस Process में क्या होता है

दोस्तों empathy का मतलब है empathize करना या लोगो के प्रॉब्लम को समझना जिनके लिए आप वो प्रोडेक्ट बना रहे हो। आइये इसे पॉइंटो में समझते है। Design Thinking kya hai

  1. User Interview Conduct करना (लोगों से nterview लेना और बहुत सारि जानकारी इकठा करना)
  2. Information Collect करना (लोगो की details जानना)
  3. User Persona बनाना (लोगों के उमर जानना फैमली, मेम्बर कितने है और उनकी इनकम क्या है)
  4. किस तरह के लोगों के लिए product बना रहे है।
  5. लोगों के रियल Problem क्या है

दोस्तों ये सारी जानकारी लेने के बाद आपको पता चल जायेगा की आपको कोण सा प्रोडक्ट बनाना चाहिए। केसा प्रोडक्ट बनाना चाहिए। जिसके साथ आप आसानी से Success हो सकते है। अब ये सारी जानकारी जानने के बाद इसे define करो यानि अचे से समझो। कैसे आईये निचे जानते है। what is design thinking process


Define Process में क्या होता है

दोस्तों Define Process में आप ये देखते हो की अपने Empathy के स्टेप में जो भी देखा उसको आप अछि तरह से लिखोगे इससे आपको यह पता चल जाता है कि यूजर को exactly क्या चाहिए उनके चैलेंज क्या है। यानि Empathy किये गए सारे प्रोसेस में से कौन सी बातें आपके काम की है और आप उसी पर जो है काम करोगे। design thinking course


Ideate क्या है और इस Process में क्या होता है

दोस्तों यहाँ Ideate का मतलब ये है की जो भी इंफॉर्मेशन आपको empathize करके डिफाइन किया उससे सोलुशन कैसे बनाओगे। दोस्तों लोगों से इकठा किये गए जानकारी को और इसके प्रॉब्लम को समझ कर नए-नए ideas लना और इसमें से परफेक्ट idea को निकलना होता है। design thinking benefits


Prototype क्या है और इस Process में क्या होता है

दोस्तों इसमें deside करते है की वो प्रोडेक्ट दिखाई कैसे देगा उसे उसे कैसे कर सकते है वो कितना हेण्डी होगा कितना सस्ता होगा कितना सेफ होगा और इसमें इस तरह के मेटीरियल लगेंगे। Prototype Disgn आप पेपर पर भी बना सकते हो या बोर्ड पर भी बना सकते हो या सारी या सारी डिस्कशन के बाद जो भी आप मटेरियल इस्तेमाल कर सकते हो। यह फाइनल प्रोडक्ट नहीं होता पर इसमें प्रोडक्ट का रुप दिया जाता है कि वह कैसे दिखेगा और कैसे काम करेगा। design thinking concept


Test Process में क्या होता है

दोस्तों इस प्रोसेस में लोगों को उस प्रोडक्ट को इस्तेमाल करने के लिए कहा जाता है और उनसे फीडबैक भी लेते हैं वह प्रोडक्ट कैसा है उसमें क्या-क्या चेंज कर सकते हैं वह कितना कंफर्टेबल है किसी भी सिचुएसन में वह कैसे चलेगा यह सारी रियल सिचुएशन में लोगों को देखकर उनसे फीडबैक लिया जाता है टेस्टिंग में बताए गए सारे चेंज को ध्यान में रखकर फाइनल प्रोडक्ट को बनाया जाता है design thinking jobs india


  दोस्तों अब आप जान गए होंगे की Design Thinking Process में पहले अपने एंपैथाइज किया यानि प्रॉब्लम को समझा उसके बाद उसे डिफाइन क्या यानि प्रॉब्लम को अच्छी तरीके से जाना उसके बाद Ideate किया यानि सारी इनफार्मेशन को लेकर एक अच्छा सा आईडिया बनाया उसके बाद उस आइडिया को अपने प्रोटोटाइप में कन्वर्ट किया जो एक डमी प्रोडक्ट बनाया कोई भी मटीरियल लेकर उसके बाद उसको टेस्ट करने के लिए रियल यूजर को दिया ताकि आप उससे फीडबैक ले सके और फाइनल प्रोडक्ट बना सके। design thinking jobs salary



दोस्तों तो डिजाइन थिंकिंग प्रोसेस काफी लंबा होता है पर ये बहुत ही सटीक होता बहुत अच्छा काम करता है इसीलिए डिजाइन थिंकिंग की आजकल काफी ज्यादा डिमांड है और मुझे उम्मीद है की आपको ये डिजाइन थिंकिंग के बारे पूरी जानकारी मिल गया होगा। धन्यवाद !

MrJaz Tm

Hii Friend's. I am Sonu Kumar, and I am a full-time blogger and YouTuber. I love blogging and sharing knowledge information worldwide so everyone can easily reach what we have.

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Previous Post Next Post

Contact Form